Search
Close this search box.

Two Bangladeshi nationals from LGBT community sexually assaulted in Delhi | दिल्ली में 2 बांग्लादेशियों के साथ हुआ दुष्कर्म

Share this post

LGBT, Delhi Police, Bangladesh, Gay Dating App- India TV Hindi

Image Source : FILE
पुलिस ने इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के शकरपुर इलाके के एक पार्क में LGBT समुदाय के 2 बांग्लादेशी नागरिकों को 5 लोगों ने कथित तौर पर अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर किया। पुलिस द्वारा गुरुवार को दी गई जानकारी के मुताबिक, इस सिलसिले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उसने बताया कि बुधवार रात करीब एक बजे शकरपुर थाने में बने पुलिस कंट्रोल रूम को बांग्लादेशी नागरिकों के साथ दुष्कर्म किए जाने की सूचना मिली। पुलिस ने कहा कि कॉल के जवाब में एक टीम को घटनास्थल पर भेजा गया।

रामलीला देखने गए थे पीड़ित

पुलिस ने बताया कि शकरपुर का निवासी 22 साल का बोनी (बदला हुआ नाम) 27 वर्षीय बांग्लादेशी नागरिक रोनी (बदला हुआ नाम) के साथ रह रहा था। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (पूर्व) अचिन गर्ग ने कहा, ‘रोनी का दोस्त जोनी घूमने के लिए के लिए बांग्लादेश से दिल्ली आया था और उनके साथ रह रहा था। वे सभी LGBT समुदाय से हैं।’ मंगलवार की रात रोनी और जोनी शकरपुर के स्कूल ब्लॉक में रामलीला देखने गए थे। रात करीब 11:30 बजे जब वे घर लौट रहे थे, तो रोनी का सामना अपने पुराने दोस्त राज (बदला हुआ नाम) से हुआ, जिससे उसकी मुलाकात एक समलैंगिक डेटिंग ऐप के जरिए हुई थी।

‘पार्क में पीड़ितों संग जबरन यौनाचार’
पुलिस ने शिकायत के हवाले से बताया कि ‘राज’ के साथ दो अन्य व्यक्ति भी थे। राज ने रोनी की इच्छा के बारे में पूछा, लेकिन रोनी ने मना कर दिया और राज को बताया कि जोनी भी समलैंगिक है। राज और जोनी दोनों रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए सहमत हुए। वे सभी एक पार्क में गए, जहां राज और जोनी एक सुनसान इलाके में चले गए, जबकि बाकी 3 पार्क में ही रहे। अधिकारी ने कहा, कुछ मिनटों के बाद राज के 2 और दोस्त उनके साथ शामिल हो गए और राज समेत सभी पांचों ने रोनी और जोनी पर हमला किया और उनके साथ जबरन यौनाचार किया।

‘12 घंटे के भीतर पकड़े गए संदिग्ध’
पुलिस ने बताया कि घटना के बाद रोनी और जोनी अपने घर लौट आए और अपने दोस्त बोनी को घटना के बारे में बताया तो उसने PCR से संपर्क किया। जांच के दौरान CCTV कैमरों के फुटेज की समीक्षा की गई, और ह्यूमन इंटेलिजेंस के माध्यम से क्षेत्र में LGBT समुदाय के सदस्यों की मौजूदगी के बारे में जानकारी एकत्र की गई। अधिकारी ने कहा, ‘पीड़ितों से संदिग्धों के विवरण लिए गए और क्षेत्र में रहने वाले LGBT समुदाय के सदस्यों के बारे में खुफिया जानकारी जुटाई गई। काफी प्रयासों के बाद 12 घंटों के भीतर कुछ संदिग्धों को पकड़ा गया और उनसे गहन पूछताछ की गई।’

‘3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया’
अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी व्यक्तियों की पहचान स्थापित कर ली गई है और 5 आरोपियों में से 3 देवाशीष वर्मा (20), सुरजीत (21) और आर्यन जिसे गोलू (20) के नाम से भी जाना जाता है, को गिरफ्तार कर लिया गया है।’

Latest India News

Source link

Daily Jagran
Author: Daily Jagran

Leave a Comment

ख़ास ख़बरें

ताजातरीन