Search
Close this search box.

Andhra Train Accident LIVE Updates is it technical fault or man made 13 killed 50 injured । तो क्या इस वजह से टकराईं ट्रेनें? हादसे में 13 हुई मृतकों की संख्या, 50 लोग घायल

Share this post

andhra train accident- India TV Hindi

Image Source : ANI
आंध्र प्रदेश में ट्रेन दुर्घटना

Andhra Train Accident LIVE Updates: आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में रविवार की शाम हावड़ा-चेन्नई लाइन पर दो ट्रेनों की टक्कर में मृतकों की संख्या अबतक 13 पहुंच गई है और 50 लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों में कुछ लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। ईस्ट कोस्ट रेलवे (ECR) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि रविवार की शाम करीब सात बजे कंकटपल्ली में पलासा पैसेंजर ट्रेन ने रायगड़ा पैसेंजर ट्रेन को पीछे से टक्कर मार दी, जिससे तीन डिब्बे पटरी से उतर गए और ये बड़ा हादसा हो गया। विजयनगरम कलेक्टर एस नागलक्ष्मी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, इस ट्रेन हादसे में अबतक 11 लोगों की मौत हो गई है और कम से कम 32 लोग घायल हुए हैं। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि घायलों को विशाखापत्तनम और विजयनगरम के अस्पतालों में ले जाया गया  है, जहां उनका इलाज चल रहा है।

विजयनगरम के पुलिस अधीक्षक ने जानकारी दी हैे कि आंध्र प्रदेश में ट्रेन दुर्घटना में मृतकों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है, जबकि 50 लोग घायल हैं।

केंद्र सरकार-राज्य सरकार ने मुआवजे का किया एलान




ट्विटर (एक्स) पर एक पोस्ट में, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि केंद्र सरकार ने पीड़ितों के लिए अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट पर कहा, “सभी घायलों को अस्पतालों में स्थानांतरित कर दिया गया है। अनुग्रह मुआवजे में  मृत्यु के मामले में 10 लाख रुपये, गंभीर चोटों के लिए 2 लाख रुपये और मामूली चोटों के लिए 50,000 रुपये दिए जाएंगे।”

वहीं, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने भी घटना पर दुख व्यक्त करते हुए मुआवजे का एलान किया। सीएम ने अधिकारियों को हादसे के मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का निर्देश दिया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, उन्होंने मृतकों के परिजनों के लिए 2-2 लाख रुपये और अन्य राज्यों के घायलों के लिए 50,000 रुपये के मुआवजे की भी घोषणा की।

रेल प्रबंधक ने दी जानकारी 

मंडल रेल प्रबंधक सौरभ प्रसाद ने बताया “हम हादसे के बाद सभी कोचों की जांच कर रहे हैं। एक बार ऐसा हो जाने पर, हम मृतकों की सही संख्या का पता लगा पाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने 13 घायल लोगों को सरकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा है। हो सकता है कि कुछ साधारण लोगों को चोटें आईं होंगी। “ उन्होंने आगे कहा कि उलझे हुए डिब्बों को अलग करने की प्रक्रिया जारी है और ऐसा होने पर तस्वीर साफ हो जाएगी कि दुर्घटना की वजह क्या थी और मृतकों की संख्या कितनी है। वहीं, विजयनगरम के सरकारी जनरल अस्पताल की अधीक्षक डॉ. अनिला सुनंदिनी ने पीटीआई-भाषा को बताया, “हमें दुर्घटनास्थल से 32 घायल यात्री मिले हैं और उनमें से कुछ की हालत गंभीर है। इसके अलावा, कुछ घायल यात्रियों को अन्य अस्पतालों में भी भर्ती कराया गया है।” .

दुर्घटना की ये रही होगी वजह

ईस्ट कोस्ट रेलने ने कहा कि ये रेल हादसा मानवीय भूल और सिग्नल की अनदेखी के कारण हुआ होगा। ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) बिस्वजीत साहू ने कहा कि ट्रेन संख्या 08532 (विशाखापत्तनम-पलासा पैसेंजर) और 08504 (विशाखापत्तनम-रायगड़ा पैसेंजर स्पेशल) टकरा गईं थीं। उन्होंने कहा कि रायगड़ा पैसेंजर सिग्नल से आगे निकल गई थी। इस वजह से विशाखापत्तनम-पलासा पैसेंजर ट्रेन के पीछे के दो डिब्बे और विशाखापत्तनम-रायगड़ा पैसेंजर ट्रेन का इंजन पटरी से उतर गए। मौके पर डीआरएम वाल्टेयर और उनकी टीम के साथ बचाव कार्य जारी है। अधिकारी ने कहा, दुर्घटना के बाद राहत ट्रेनें और अन्य बचाव उपकरण लगे हुए हैं।

पीएम मोदी ने रेलमंत्री से ली जानकारी

वहीं, पीएमओ ने ट्वीट किया,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेल मंत्री के संपर्क में हैं और प्रभावित लोगों को सभी सहायता प्रदान की जा रही है।” अधिकारी प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है और कहा है कि मैं प्रार्थना करता हूं कि सभी घायल जल्द ठीक हो जाएं।”

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि सभी यात्रियों को दुर्घटनास्थल से हटा दिया गया है। उन्होंने एक्स पर कहा, “बचाव अभियान जारी है। सभी यात्रियों को हटा दिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी जी ने स्थिति की समीक्षा की और उन्होंने आंध्र प्रदेश के सीएम से बात की। राज्य सरकार और रेलवे टीमें निकट समन्वय में काम कर रही हैं।”

राहत और बचाव कार्य जारी है

आंध्र प्रदेश के मंत्री बोत्चा सत्यनारायण भी मौके पर पहुंचे और बचाव कार्यों की निगरानी कर रहे हैं। विजयनगरम जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी घटनास्थल पर हैं। उन्होंने बताया कि रात में अंधेरे के कारण बचाव कार्य में बाधा आ रही थी। इस बीच, ईसीआर ने हेल्पलाइन स्थापित किया है।अधिकारियों ने कहा कि स्थानीय प्रशासन और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) को सूचित किया गया, सहायता मांगी गई है और एम्बुलेंस और दुर्घटना राहत ट्रेनें घटनास्थल पर पहुंच गईं हैं।

इनपुट-पीटीआई

Latest India News

Source link

Daily Jagran
Author: Daily Jagran

Leave a Comment

ख़ास ख़बरें

ताजातरीन